फिल्म फ्लॉप होने पर सबसे बढ़िया बहाना, लोगों पनीर पर टैक्स दे रहे है इसलिए फिल्म नहीं देख रहे

फिल्म फ्लॉप होने पर सबसे बढ़िया बहाना, लोगों पनीर पर टैक्स दे रहे है इसलिए फिल्म नहीं देख रहे…

Admission

बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप का नाम आज किसी से अनजान नहीं है, ये एक ऐसे डायरेक्टर हैं जो अपनी फिल्मों से ज्यादा अपने बयान की वजह से चर्चा में रहते हैं फिलहाल अनुराग अपनी फिल्म दोबारा के प्रमोशन में व्यस्त हैं उन्होंने बॉलीवुड फिल्मों को लेकर ऐसा बयान दिया है जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया है।

आप तो जानते ही हैं कि इस समय बॉलीवुड की एक फिल्म फ्लॉप साबित हो रही है. हाल ही में लाल सिंह चड्ढा और रक्षाबंधन फ्लॉप हो गए हैं और अनुराग ने इस सब के लिए जीएसटी को जिम्मेदार ठहराया है. अनुराग का मानना ​​है कि स्थिति उतनी गंभीर नहीं है, जितनी मानी जा रही है।

हाल की हिंदी फिल्मों के खराब बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के पीछे एक और कारण बताते हुए अनुराग ने कहा कि लोग अच्छी फिल्में देखना चाहते हैं। मेरा मानना ​​है कि इन दिनों कुछ अच्छी फिल्में हैं जिन्होंने काम नहीं किया है। लेकिन यह समझना चाहिए कि हमारे देश में आर्थिक मंदी का समय चल रहा है।

आज बिस्कुट और पनीर जैसी बुनियादी चीजों पर टैक्स लगने लगा है। लोगों के पास खर्च करने के लिए पैसे नहीं हैं। पनीर पर जीएसटी लगता है। यह बहिष्कार का खेल है इस तथ्य से ध्यान हटाने के लिए कि आप खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगा रहे हैं अनुराग का कहना है कि लोग फिल्म देखने तभी जाते हैं जब वे किसी फिल्म का इंतजार कर रहे हों या उन्हें यकीन हो कि फिल्म अच्छी है।